To Get Yearly Paid Subscription in English
JOIN NOW
To Get Yearly Paid Subscription in Hindi
JOIN NOW
चौगुन की समझ और अभ्यास

चौगुन का प्रदर्शन और व्याख्यान - तत्कार (पैरों का काम) - तीनताल

इस हफ्ते गुरु पाली चन्द्रा आपको चौगुन के बारे में समझायेंगी । किस प्रकार एक मात्रा में चार बोलों का बराबर से विभाजित होकर एक ही मात्रा में आ जाना कैसे किया जाता है, देखें । इस वक्त लय को कायम रखना आवश्यक है । इसे सीखना, समझना और इसका रियाज़ करना भी बेहत ज़रूरी है । किस प्रकार तत्कार का रूप बदलता जा रहा है । लय के साथ बोलों का बढना और घटना समझदारी का खेल है । देखें।